Entrepreneur, Intrepreneur, Technopreneur and Entrepreneurship क्या है?

बिजनेस के क्षेत्र में हर दिन कुछ नया देखने को मिलता है यह ऐसा क्षेत्र है जहां लगातार बदलाव होते रहते हैं| पिछले कुछ सालों में बिजनेस से जुड़े कुछ शब्द जैसे कि Entrepreneur, Intrepreneur, Technopreneur and Entrepreneurship का प्रचलन बहुत ज्यादा बढ़ गया है|

यह केवल शब्द नहीं है बल्कि इनका वास्तविक अर्थ बिजनेस से जुड़े व्यक्ति की कार्य क्षमता, सोचने की शक्ति और रचनात्मकता द्वारा परिभाषित किया जाता है|

Entrepreneur, Intrepreneur, Technopreneur and Entrepreneurship

Entrepreneur, Intrepreneur, Technopreneur and Entrepreneurship

Entrepreneur, Intrepreneur, Technopreneur and Entrepreneurship:

वर्तमान समय में अगर कोई व्यक्ति इस प्रकार की क्षमता अपने भीतर रखता है तो वह बिजनेस के क्षेत्र में अपनी एक अलग ही पहचान पाता है| आइए विस्तार से जानते हैं कि बिजनेस के क्षेत्र में अपनी धाक जमाने वाले इन सभी शब्दों का असली अर्थ क्या है|

Entrepreneurship:

दुनियाभर के जानकारों और उपलब्ध पुस्तकों के द्वारा Entrepreneurship की कई सारी परिभाषाएं दी गई है उन सभी को पढ़ने और समझने के बाद हम इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि “Entrepreneurship एक प्रकार का तंत्र हैं जो मौजूदा अवसरों और स्त्रोतों का उपयोग कर किसी भी व्यवसाय या अन्य क्षेत्र को सफलतापूर्वक आगे बढ़ने में सहायता करता है|

विद्वानों और जानकारों के अनुसार आज के दौर में सफलतम बिजनेस वही है जो पहले से मौजूद अवसरों का उपयोग स्वयं की वृद्धि के लिए करें| इस प्रकार Entrepreneurship को निम्न प्रकार के कार्यों के क्रियान्वयन का सामूहिक रुप कहा जा सकता है|

  1. उपन्यास अवधारणा पर लागू होने वाले नए विचार
  2. उत्पाद के विभिन्न कारकों को सामूहिक रुप से एक साथ लाना
  3. समस्त उपलब्ध स्त्रोतों का पूर्ण उपयोग करना
  4. संगठन का निर्माण
  5. बाजार की दशा के अनुसार व्यवसाय के लिए अवसरों का पता लगाना वह आवश्यक अवसरों की खोज करना
  6. स्वरोजगार प्रदान करना

Entrepreneur:

Entrepreneur वह व्यावसायिक व्यक्ति होते हैं जो किसी भी बिजनेस के लिए उपलब्ध अवसरों का पता लगाते हैं  फिर चाहे स्थिति कैसी भी हो| जब वह बिजनेस के लिए नए अवसर प्राप्त कर लेते हैं तो उन अवसरों का उपयोग बाजार की दशा के अनुसार नए उत्पाद बनाने के लिए करते हैं| बिजनेस को चारों तरफ से लाभ पहुंचाने के लिए वह उपलब्ध स्त्रोतों का अलग-अलग रूप से इस्तेमाल करते हैं|

यह ध्यान देने योग्य बात है कि ज्यादातर Entrepreneur छोटे बिजनेस से शुरुआत करते हैं इसका यह मतलब नहीं कि उनकी क्षमता अन्य Entrepreneur के मुकाबले कम होती है| यह ऐसे Entrepreneur होते हैं जो रिस्क फैक्टर के डर की वजह से छोटे बिजनेस से शुरुआत कर अंत में उसे एक बड़ा रूप देते हैं|

जबकि एक सफल Entrepreneur की शुरुआत बड़े बिजनेस से ही होती है और वह उसे हर संभव लाभ पहुंचाता है फिर चाहे रिस्क फैक्टर कितना भी  ज्यादा हो|

रचनात्मकता और अभिनव क्षमता प्रत्येक Entrepreneur के खून में होती है| यही वह मूल्यवान उपहार है जो किसी भी व्यक्ति को एक सफल Entrepreneur बनाती है| अगर सरल भाषा में बात करें तो Entrepreneur की परिभाषा कुछ इस प्रकार होगी|

प्रत्येक एकल व्यक्ति या एकल व्यक्तियों का समूह जो स्वयं की रचनात्मकता, बुद्धिमता और एंटरप्रेन्योरशिप का उपयोग वास्तविक दुनिया की समस्याओं के समाधान के लिए करता है फिर चाहे वह व्यवसाय से जुड़ी समस्या हो या किसी अन्य क्षेत्र से, ऐसी क्षमता रखने वाला व्यक्ति ही Entrepreneur कहलाता है|

Intrepreneur:

कई बार ऐसी संभावित स्थितियां होती है कि एक सक्षम Entrepreneur किसी कारणवश या धन की कमी के कारण स्वयं के बिजनेस को चलाने में असमर्थता महसूस करता है जिसके फलस्वरुप वह स्वयं के व्यवसाय को छोड़ अन्य  व्यवसायिक समूहों के लिए कार्य करता है| इस प्रकार के Entrepreneur को ही Intrepreneur कहा जाता है|

असल में यह Entrepreneur ही होते हैं क्योंकि वह अन्य कर्मचारियों की तरह उस समूह के साथ इस प्रकार जुड़े हुए नहीं होते जिस प्रकार किसी समूह का एक कर्मचारी अपने बॉस के साथ जुड़ा होता है| यानी कि Intrepreneur “एंप्लॉयर एंप्लोई” जैसे रिश्तों की पालना नहीं करता है  बल्कि वह  किसी भी कंपनी इस समूह में सिर्फ एकल रूप से कार्य करता है|

अधिकतर यह देखा गया है कि किसी कंपनी या ऑर्गनाइजेशन में कार्य करने वाले कई सारे ऐसे प्रतिभावान कर्मचारी होते हैं जो अपनी प्रतिभा को नहीं पहचान पाते तो ऐसी स्थिति में कंपनी का यह दायित्व बनता है कि इस प्रकार के लोगों को अपनी प्रतिभा निखारने के लिए प्रोत्साहित व साहसिक रूप से प्रेरित कर व्यवसायिक लाभ के लिए उपयोग करें| अन्यथा ऐसे कर्मचारी कंपनी के अंदर स्वयं के पद और दैनिक जीवन शैली से निराश होकर स्वयं का बिजनेस शुरू कर देते हैं|

Entrepreneur and Intrepreneur में अंतर:

एक Entrepreneur वह व्यक्ति होता है जो किसी बिजनेस के शुरुआती स्तर से ही अपनी सेवाएं प्रदान करता है और उसे  बढ़ाने के लिए अपनी प्रतिभा का उपयोग करता है| वह व्यवसाय में होने वाले जोखिम को कम कर अधिक से अधिक उत्पादन लाभ के लिए जिम्मेदार होता है|

जबकि एक Intrepreneur वह व्यक्ति होता है जो पहले से चल रहे व्यवसाय में उपस्थित खामियों को ढूंढ कर उसे और अधिक गति से बढ़ने के लिए अपनी सेवाएं प्रदान करता है|

Technopreneur:

Entrepreneur और Intrepreneur की ही तरह Technopreneur भी किसी कंपनी या समूह का हिस्सा होते हैं| Technopreneur वह एकल व्यक्ति होता है जो तकनीक की सहायता से नए आविष्कारों को जन्म देता है और एक सफल बिजनेस खड़ा करने  के लिए तकनीकी योगदान देता है|

एक Technopreneur सबसे पहले एक तकनीकी अविष्कारक होता है उसके बाद व्यवसायी, जो अपने तकनीकी अविष्कारों के माध्यम से स्वरोजगार के साथ साथ अन्य रोजगार अवसर  प्रदान करता है|

उम्मीद है कि पूरा आर्टिकल पढ़ने के बाद आपको बिजनेस की दुनिया से जुड़े इन चारों स्तंभों (Entrepreneur, Intrepreneur, Technopreneur and Entrepreneurship) के बारे में अच्छे से समझ आ गया होगा| अगर आपको यह जानकारी उपयोगी लगी हो तो कृपया अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें|

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *